Logo

ब्रेकिंग न्यूज़

झारखंड में कोरोना की तीसरी लहर के बीच राज्य में 37 लाख बच्चों में से मात्र 7 लाख बच्चे कर पा रहे डिजिटल पढ़ाई, जानिए ऐसा क्यों..?

झारखंड में कोरोना की तीसरी लहर के बीच राज्य में 37 लाख बच्चों में से मात्र 7 लाख बच्चे कर पा रहे डिजिटल पढ़ाई, जानिए ऐसा क्यों..?

Posted at: Jan 23 , 2022 by Swadeshvaani
स्वदेश वाणी

स्वेदश वाणी (डिजिटल डेस्क):  कोरोना संक्रमण की वजह से राज्य में स्कूल बंद हैं। बच्चों की ऑनलाइन क्लास शुरू हुई है और उन्हें डिजिटल कंटेंट उपलब्ध कराए जा रहे हैं। बावजूद इसके सभी बच्चों तक डिजिटल कंटेंट नहीं पहुंच पा रहा है। प्रदेश की पहली से आठवीं के 19 फीसदी बच्चे ही अब तक इससे लाभांवित हो रहे हैं।

दरअसल, राज्य में पहली से आठवीं क्लास में कुल 37,79,078 छात्र-छात्राएं नामांकित हैं, लेकिन डीजी साथ के माध्यम से डिजिटल कंटेंट 7,01,334 छात्र-छात्राओं को ही मिल पा रहा है। वही, स्कूली शिक्षा व साक्षारता विभाग ने इसकी गति बढ़ाने का निर्देश दिया है। डीजी साथ के माध्यम से बच्चों को डिजिटल कंटेट पहुंचाने में सिमडेगा जिला अव्वल है, जबकि रांची दूसरे और पूर्वी सिंहभूम तीसरे स्थान पर है। बता दे की, सिमडेगा में 92 फीसदी बच्चे डीजी साथ में रजिस्टर्ड हैं। वहीं रांची में 66 फीसदी और पूर्वी सिंहभूम में 62 फीसदी बच्चे डीजी साथ एप में रजिस्टर्ड हैं और इसका लाभ उठा रहे हैं। वहीं साहिबगंज, दुमका, जामताड़ा, गोड्डा, पाकुड़ और देवघर सबसे फिसड्डी जिलों में हैं। यहां 10 फीसदी से भी छात्र-छात्राएं डीजी साथ में निबंधित हो चुके हैं और इससे डिजिटल कंटेट ले रहे हैं।

इसे भी पढ़े...   झारखंड के मौसम का हाल: रांची समेत कई इलाकों में सुबह से हो रही बारिश, ओलावृष्टि की भी है आशंका, विजिबिलिटी- मात्र 20 मीटर, जानिए कब तक रहेगा ऐसा मौसम

 

 


रिलेटेड खबरें

चर्चित खबरे

पहला पन्ना