Logo

ब्रेकिंग न्यूज़

एसईसीएल के हसदेव एरिया में नहीं चली बीएमएस नेताओं की

एसईसीएल के हसदेव एरिया में नहीं चली बीएमएस नेताओं की

Posted at: Aug 13 , 2021 by Swadeshvaani
स्वदेश वाणी 

सत्येंद्र सिंह 

हमें तीन सूट चाहिए ही चाहिए, चाहे जिसे भी निकालने पड़े 
गेस्ट हाउस के सूट को लेकर महाप्रबंधक हसदेव यूटी कंजर कर एवं बीएमएस के बीच हुआ विवाद

रांची : कोल इंडिया बीएमएस यूनियन के प्रभारी के लक्ष्मण रेडी ने 6 अगस्त 10 अगस्त तक एसईसीएल के सीआईसी फील्ड के तमाम क्षेत्रों का भ्रमण किया। 8अगस्त को हसदेव क्षेत्र के मधुबन क्लब में कार्यकर्ताओं की बैठक के बाद एसईसीएल के ही कर्मचारी एवं जेबीसीसीआई के वैकल्पिक सदस्य मजरूल हक अंसारी ने हसदेव क्षेत्र के कार्मिक प्रबंधक से कहा कि हमें हसदेव हाउस में तीन सूट चाहिए। प्रबंधन ने दो सूट की व्यवस्था की थी तथा नीचे डबल बेड एक रूम जो सूट जैसा ही है, उसकी व्यवस्था थी। कहा गया कि ऊपर के दो सूट में अंतरकंपनियों स्थानांतरण के कारण महाप्रबंधक स्तर के दो अधिकारी पहले से रह रहे थे। ऐसी स्थिति में क्षेत्रीय कार्मिक प्रबंधक ने 3 विकल्प दिए एक ही साथ तीन सूट चाहिए तो हसदेव  इन होटल जो यहां का सबसे प्रतिष्ठित होटल है उसमें रह जाइए या राजनगर में अधिकारी निवास के हॉस्टल में तीन सूट है ले लीजिए। किंतु मजहरूल हक ने कहा कि हसदेव हाउस में ही तीन सूट चाहिए कोई भी अधिकारी रुका हो उसको बाहर करिए। हसदेव क्षेत्र के महाप्रबंधक यूटी कंजर कर ने मजरूल हक से बात किया। कंजर कर जो कंपनी के सबसे अनुभवी महाप्रबंधक हैं। उन्होंने मामले को ठंडा करने के लिए मजरुल हक से कहा कि के लक्ष्मण रेड्डी जी एवं अशोक मिश्रा जो कोल इंडिया कल्याण बोर्ड के सदस्य हैं, सूट में रह जाएं। आप इसी कंपनी के हैं आपकी इज्जत और हमारी इज्जत एक साथ है मेहमानों को कोई तकलीफ नहीं होनी चाहिए इसलिए थोड़ी तकलीफ सहते हुए आप नीचे के डबल बेड कमरे में रुक जाइए या नील कमल गेस्ट हाउस के सूट में चले जाइए। साथ ही उनसे आग्रह किया कि के लक्ष्मण रेड्डी जी से हम मिलना चाहते हैं वे कब समय देंगे। इस पर मजहरूल हक ने कहा कल सवेरे 9:30 बजे अपने कार्यालय में आप आइए पहले हम आपसे निपटेंगे, इसके बाद तय करेंगे कि रेडी जी से मिलना है अथवा नहीं। 9 अगस्त को सुबह 9बजे दोबारा मजहरूल हक ने महाप्रबंधक हसदेव को कहा के आप कार्यालय में आ रहे हैं या नहीं। महाप्रबंधक ने कहा कि कोई पेपर हो तो हमारे एपीएम को दे दीजिए हम आदरणीय लक्ष्मण रेडी से मिलने जा रहे हैं गेस्ट हाउस में। मजरुल हक अंसारी से टेलीफोन लेकर के कोल इंडिया बीएमएस प्रभारी के लक्ष्मण रेडी ने महाप्रबंधक को कहा क्यों नहीं ऑफिस जाते हो महाप्रबंधक ने कहा आप कौन साहब बोल रहे हैं। मैं लक्ष्मण बोल रहा हूं महाप्रबंधक समझ नहीं पाए की कोल इंडिया बीएमएस प्रभारी बोल रहे हैं। उन्होंने कहा कि मैं आदरणीय रेडी साहब से  मिलने जा रहा हूं इस पर नाराज हो कर लक्ष्मण ने कहा तुम क्या हो ? महाप्रबंधक ने कहा मैं हसदेव क्षेत्र का महाप्रबंधक हूं। क्यों नहीं जाते हो मिलने। महाप्रबंधक ने कहा मैं आपसे ही मिलने आ रहा हूं मुझसे मिलने की कोई जरूरत नहीं है। फिर भी परिपक्वता का परिचय देते हुए महाप्रबंधक हसदेव क्षेत्र यूटी कंजर कर, मिलने गेस्ट हाउस गए के लक्ष्मण रेडी ने कहा मैं तुमसे कोई बात नहीं करूंगा अब मैं सीधे सीएमडी से बात करूंगा। इस मामले में महाप्रबंधक के धैर्य की सभी जगह सराहना हो रही है। यहां तक की हसदेव क्षेत्र के बीएमएस के ही क्षेत्रीय पदाधिकारियों ने मजदूरों को कहा यहां से सीधे चले जाइए हमारे क्षेत्र का आईआर खराब मत करिए। क्षेत्र में चर्चा का विषय बना हुआ है कि बीएमएस के नेता व जेबीसीसीआई के सदस्य अगर मजदूरों के लिए प्रबंधन के साथ विवाद करते तो ठीक था, लेकिन अपनी सुख-सुविधा के लिए महाप्रबंधक को चेतावनी देना या धमकी देना कहां तक जायज है ?

नोट :  इस न्यूज़ से सम्बंधित खबर यूट्यूब पर भी देखे 

 


Tags:

रिलेटेड खबरें

चर्चित खबरे

पहला पन्ना