Logo

ब्रेकिंग न्यूज़

साजिश नहीं बल्कि चूक का शिकार हुआ था CDS जनरल बिपिन रावत का चॉपर, तकनीकी खराबी के नहीं मिले कोई सबूत

साजिश नहीं बल्कि चूक का शिकार हुआ था CDS जनरल बिपिन रावत का चॉपर, तकनीकी खराबी के नहीं मिले कोई सबूत

Posted at: Jan 15 , 2022 by Swadeshvaani
स्वदेश वाणी

तमिलनाडु में 8 दिसंबर को CDS जनरल बिपिन रावत का हेलिकॉप्टर पायलट की चूक की वजह से क्रैश हुआ था। चॉपर में किसी तरह का टेक्निकल फॉल्ट, साजिश या लापरवाही नहीं थी। तीनों सेनाओं की संयुक्त जांच, यानी ट्राई-सर्विसेज कोर्ट ऑफ इंक्वायरी की शुरुआती रिपोर्ट के जरिये ये बात सामने आई है।

दरअसल, इंडियन एयरफोर्स ने बयान जारी इस बारे में जानकारी दी है। इसके मुताबिक मौसम में अचानक बदलाव और बादलों के आ जाने की वजह से पायलट गलती से पहाड़ियों से टकरा गया।

इस बाबत, एयरफोर्स ने बताया- फ्लाइट डेटा रिकॉर्डर और कॉकपिट वॉयस रिकॉर्डर की शुरुआती जांच में किसी तरह की लापरवाही, मशीनरी से छेड़छाड़ या चॉपर में तकनीकी गड़बड़ी की आशंका नहीं मिली है। 8 दिसंबर को भारतीय वायुसेना का Mi-17 हेलिकॉप्टर तमिलनाडु के कुन्नूर में क्रैश हो गया था। हादसे में जनरल रावत और उनकी पत्नी मधुलिका के साथ 12 और लोगों की मौत हो गई थी।

CDS बिपिन रावत का जो हेलिकॉप्टर क्रैश हुआ उसे 'मास्टर ग्रीन' कैटेगरी का क्रू उड़ा रहा था। हेलिकॉप्टर को उड़ाने वाला पायलट और उसका पूरा क्रू अच्छी तरह से ट्रेन्ड था। वह 'मास्टर ग्रीन' कैटेगरी का था। इसके बाद भी हेलिकॉप्टर क्रैश क्यों हुआ? इस सवाल के जवाब का इंतजार केवल सरकार को ही नहीं बल्कि आम जनता को भी था।

इसे भी पढ़े...  लखनऊ: अखिलेश को दलितों की जरूरत नहीं है, उन्होंने दलितों का अपमान किया है- चंद्रशेखर आजाद

 


रिलेटेड खबरें

चर्चित खबरे

पहला पन्ना