Logo

ब्रेकिंग न्यूज़

झारखंड में कोरोना का कहर: राज्य में कोरोना ने गरीबों पर ज्यादा बरपाया कहर, WHO ने अपनी रिपोर्ट में कही ये बात

झारखंड में कोरोना का कहर: राज्य में कोरोना ने गरीबों पर ज्यादा बरपाया कहर, WHO ने अपनी रिपोर्ट में कही ये बात

Posted at: Dec 6 , 2021 by Swadeshvaani
स्वदेश वाणी

स्वदेश वाणी (डिजिटल डेस्क):  पूरी दुनिया को फिर चिंता में डालने वाला कोरोना का नया वेरिएंट ओमीक्रोन कितना खतरनाक है, यह स्पष्ट नहीं है  लेकिन यह साफ हो चुका है कि अब तक जो भी वेरिएंट मिले उसने झारखंड के गरीबों पर ज्यादा कहर बरपाया। सूबे में कोरोना ने गरीबों की ज्यादा जान ली।

दरअसल, राज्य में कोरोना से हुई मौतों पर विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) के अध्ययन से पता चला है कि यहां कोरोना से मरने वालों में आधे से अधिक (55) या तो गरीबी रेखा से नीचे जीवन बसर करते हैं, या उनके पास आयुष्मान भारत के कार्ड नहीं थे। यही नहीं रिपोर्ट में कहा गया है कि मरने वालों में 66 प्रतिशत अकुशल मजदूर थे।

हम आप को बता दें कि राज्य में कोरोना से मरने वालों की सामाजिक आर्थिक स्थिति का पता लगाने के लिए आईडीएसपी के साथ डब्ल्यूएचओ के प्रतिनिधियों ने राज्य के 11 जिलों चतरा, पूर्वी सिंहभूम, गढ़वा, गुमला, हजारीबाग, कोडरमा, लोहरदगा, साहिबगंज, सरायकेला, सिमडेगा व पश्चिमी सिंहभूम में एक रैंडम सर्वेक्षण (सोसियो इकोनोमिक एनालिसिस ऑफ कोविड डेथ इन झारखंड) किया है। 15 सामाजिक आर्थिक मापदंडों पर किए गए अध्ययन की रिपोर्ट नेशनल हेल्थ मिशन झारखंड द्वारा जारी की गई है। जिसमें कई चौंकाने वाले तथ्य सामनेआए हैं।

 


रिलेटेड खबरें

चर्चित खबरे

पहला पन्ना