Logo

ब्रेकिंग न्यूज़

शिकारीपाड़ा के विभिन्न मौजा में आज भी चल रही है कोयला की सैकड़ों अवैध खदानें

Posted at: Nov 23 , 2021 by Swadeshvaani
स्वदेश वाणी 

 रविवार को शिकारीपाड़ा में ध्वस्त की गई थी कोयला की 23 अवैध खदानें 

 राजस्व एवं खनन विभाग की उदासीनता से धड़ल्ले से चल रहा है कोयला का काला कारोबार 

 शिकारीपाड़ा ब्यूरो की रिपोर्ट 

शिकारीपाड़ा(दुमका) : शिकारीपाड़ा प्रखंंड में कोयला के अवैध उत्खनन एवं परिवहन पर केवल वन विभाग द्वारा यदा-कदा कार्रवाई की जा रही है| राजस्व एवं खनन विभाग द्वारा कोयला के अवैध उत्खनन एवं परिवहन पर कोई कार्रवाई नहीं की जा रही है, जिसके कारण आधा दर्जन मौजा में आज भी कोयले का अवैध उत्खनन एवं परिवहन बेरोकटोक जारी है|यहां बताते चलें कि रविवार को वन प्रमंडल पदाधिकारी दुमका के नेतृत्व में दंडाधिकारी सह अनुमंडल पदाधिकारी महेश्वर महतो की उपस्थिति में जेसीबी मशीन लगाकर शिकारीपाड़ा थाना क्षेत्र के लुटिया पहाड़ वन क्षेत्र में चल रही कोयले की 17 अवैध खदानों को डोजरिंग कर ध्वस्त किया गया था एवं बादलपाड़ा में 6 कोयला खदानों को भी ध्वस्त किया गया|मौके पर मौजूद अनुमंडल पदाधिकारी महेश्वर महतो ने कहा कि डोजरिंग का यह कार्य वन विभाग द्वारा किया जा रहा है| मैं दंडाधिकारी के रूप में सहयोग देने हेतु मौजूद हूं|गौरतलब है कि शिकारीपाड़ा के वन क्षेत्र में कोयला की पचासों अवैध खदानें संचालित है परन्तु वन विभाग मात्र 17 कोयला खदानों को ध्वस्त कर अपनी पीठ थपथपा रहा है,जबकि कल्याणपुर एवं गंधर्व पुर वन क्षेत्र में भी कोयला की अवैध खदानें निर्बाध रूप से चल रही है| राजस्व एवं खनन विभाग कोयला के अवैध खनन एवं परिवहन के प्रति उदासीन बना हुआ है|उक्त दोनों विभागों द्वारा अभी तक किसी प्रकार की कोई कार्रवाई नहीं की गई है, जिससे थाना क्षेत्र के गंधर्वपुर,पंचवाहिनी,हरिनसिंघा कल्याणपुर एवं बादलपाड़ा नौपहाड़ मौजा के रैयती एवं खास भूमि में सैकड़ों कोयला की अवैध खदानें वर्तमान में युद्ध स्तर पर चल रही हैं|सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार कोयला को एक जगह जमा कर एलपी ट्रक द्वारा पश्चिम बंगाल भेजा जा रहा है जिसमें बड़े-बड़े कोयला माफिया मुख्य रूप से सक्रिय हैं। इस संबंध में जिला खनन पदाधिकारी कृष्ण कुमार किस्कू जो कि जिला टास्क फोर्स कमेटी के पदेन सचिव होते हैं कहते हैं कि कार्रवाई होगी समय लगेगा| आखिर वह समय कब आएगा जब कोयले के काले कारोबार पर पूर्ण रूप से लगाम लगेगा।


रिलेटेड खबरें

चर्चित खबरे

पहला पन्ना