Logo

ब्रेकिंग न्यूज़

  • देवेंद्र फडणवीस ने उद्धव सरकार पर साधा निशाना, कहा- बीजेपी महाराष्ट्र को कभी बंगाल नहीं बनने देगी
  • जशपुर घटना में मारे गए शख्स के परिवार को सीएम भूपेश बघेल देंगे 50 लाख का मुआवजा
  • दिल्ली में कांग्रेस वर्किंग कमेटी की बैठक हुई आरंभ, विधानसभा चुनावों पर मंथन संभव
  • देश में आज कोरोना से 15,981 नए मामले आए, वही 166 लोगों की मौत
  • जम्मू कश्मीर के पंपोर में सुरक्षाबलों और आतंकियों के बीच हुई मुठभेड़, एक आतंकी ढेर
  • भारतीय क्रिकेट टीम के हेड कोच बन सकते हैं राहुल द्रविड़, वोटिंग में सबसे आगे
  • सिंघु बॉर्डर हत्या मामले में आरोपी सरवजीत सिंह को CBI कोर्ट में करेगी पेश
  • छत्तीसगढ़ के रायपुर रेलवे स्टेशन पर ट्रेन में धमाका, 6 जवान घायल
  • UK से आने वालों के लिए 10 दिन का क्वॉरंटीन खत्म
  • कोबरा सांप से डसवाकर पत्नी की हत्या करने वाले को मिली दोहरी उम्रकैद
  • जैश का टॉप कमांडर शमा सोफी एनकाउंटर में ढेर
  • जेल में बंद सावरकर ने कैसे की थी गांधी से बात? राजनाथ सिंह के बयान पर भूपेश बघेल ने उठाया सवाल
  • कांग्रेस की मुश्किलें कम नहीं, अब 100 करोड़ की घूसखोरी पर कर्नाटक में कलह
  • मुंबई में NCP प्रमुख शरद पवार की दोपहर 2 बजे हुई प्रेस कॉन्फ्रेंस
  • कर्नाटक में पूर्व सीएम एचडी कुमारस्वामी का ऐलान- 2023 में उनका आखिरी विधानसभा चुनाव होगा
  • NIA के डीजी जम्मू-कश्मीर के लिए रवाना, आतंक के खिलाफ हो रहे ऑपरेशन की समीक्षा करेंगे
  • जम्मू-कश्मीर में NIA में 4 आतंकियों हुए गिरफ्तार, दहशतगर्द से जुड़े थे लश्कर-टीआरएफ
  • शेयर बाजार कि रिकॉर्ड आयी ऊंचाई पर, सेंसेक्स में 337 अंकों से से हुई बढ़त
  • कोरोना से बीते 24 घंटों में देश में 15,823 नए केस आए, 226 मरीजों की हुई मौत
  • मुंबई में समीर वानखेड़े की जासूसी के आरोपों पर पुलिस कमिश्नर ने दिए जांच के आदेश
अफगानिस्तान में इस्लामिक स्टेट से अकेले निपट सकता है तालिबान, जानिए पूरा मामला

अफगानिस्तान में इस्लामिक स्टेट से अकेले निपट सकता है तालिबान, जानिए पूरा मामला

Posted at: Oct 12 , 2021 by Swadeshvaani
स्वदेश वाणी

इस्लामिक स्टेट के खतरे की ताकत को नकारा नहीं जा सकता है…!!

तालिबान द्वारा काबुल पर कब्जा करने के बाद से इस्लामिक स्टेट ने अफगानिस्तान में हिंसा में बढ़ोतरी की है। हालिया दिनों में इस्लामिक स्टेट ने दो बड़े धमाके किए हैं जिसमें सैकड़ों लोगों की मौत हो गई है और कई लोग बुरी तरह से घायल हैं। तालिबान ने वार्ता के दौरान अमेरिका को इस बात की गारंटी दी थी कि वह चरमपंथी गुटों को नियंत्रण में रखेगा। लेकिन ऐसा होता नहीं दिख रहा है।

इसे भी पढ़े....  आज लखीमपुर पहुंची प्रियंका गांधी, बोली-पोस्टर नहीं, सहानुभूति चाहिए

एक्सपर्ट्स का कहना है कि तालिबान और इस्लामिक स्टेट दोनों ही कट्टर इस्लाम को मानते हैं लेकिन इसके बावजूद दोनों संगठनों में भयंकर मतभेद हैं। इन्हीं मतभेदों के कारण ही इस्लामिक स्टेट लंबे वक्त से अल-कायदा का दुश्मन रहा है। इस्लामिक स्टेट तालिबान से भी अधिक क्रूर है। इस्लामिक स्टेट ने जब सीरिया और इराक में शासन किया तो तालिबान के कई लड़ाके भी इस्लामिक स्टेट का समर्थन करने पहुंच गए थे।

तालिबान ने इस्लामिक स्टेट की क्षमताओं को कमतर आंका है और अफगानिस्तान के मामले में उसे ख़ारिज कर दिया है। तालिबान के कई नेताओं ने कई बार कहा है कि अफगानिस्तान में इस्लामिक स्टेट की जड़ें नहीं हैं। भले ही तालिबान ने इस्लामिक स्टेट को कमजोर माना हो लेकिन इस्लामिक स्टेट के खतरे की ताकत को नकारा नहीं जा सकता है। इस्लामिक स्टेट ने बड़े हमलों के साथ ही कई छोटे हमलों को भी अंजाम दिया है।

इसे भी पढ़े....  PM मोदी करेंगे मीटिंग; कल अमित शाह ने की थी समीक्षा….


रिलेटेड खबरें

चर्चित खबरे

पहला पन्ना